सोलर उपकरण बनाने के कारोबार में उतरेगी पतंजलि, 100 करोड़ रुपए का होगा निवेश

योगगुरु रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद सोलर उपकरणों के विनिर्माण में उतरने वाली है. कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी जानकारी दी.

कंपनी के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी आचार्य बालकृष्ण ने कहा, ‘‘हम सौर ऊर्जा पैनलों का उत्पादन शुरू करेंगे. इसका कारखाना ग्रेटर नोएडा औद्योगिक क्षेत्र के पास है और इसका उद्घाटन जनवरी में हो सकता है.’’ बालकृष्ण ने कहा कि इसके लिए करीब 100 करोड़ रुपए का निवेश किया जा सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘हमने इसके लिए करीब 50-60 करोड़ रुपये का निवेश किया है.’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘हम यहां सौर ऊर्जा पैनल बनाएंगे. हमारी योजना चिप और फोटोवोल्टिक सेल बनाने की भी है.’’

कंपनी शुरुआत में जो भी उपकरणों का उत्पादन करेगी उसका खुद उपयोग करेगी. अपने सभी कारखानों में वह छतों पर सौर ऊर्जा उपकरण लगाएगी.

कमर्शियल प्रोडक्शन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘यदि लोग हमसे खरीदने आएंगे तो हम इसकी बिक्री भी करेंगे.’’ इस कारोबार में उतरने की वजह पूछे जाने पर उन्होंने कहा, अपने संयंत्रों में सौर ऊर्जा पैनल लगवाते समय यह बात पता चली कि इससे संबंधित सारी चीजें चीन से मंगाई जाती हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इसके बाद हमने तय किया कि कम से कम अपनी जरूरतों के लिए हमें खुद बनाना चाहिए.