सर्वर डाउनः वक्त पर शुरू नहीं हुआ एग्जाम, स्टूडेंट्स ने कैंपस में किया हंगामा निश्चय बोनिया

भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा आयोजित की जा रही पटवारी भर्ती परीक्षा तकनीकी खामियां का शिकार हो गई। भोपाल सहित सभी 16 शहरों में शनिवार सुबह की पाली में सर्वर डाउन हो गया। कई केंद्रों पर केवल पांच फीसदी परीक्षार्थियों का ही आधार से वेरीफिकेशन हो सका। बाकी के परीक्षार्थियों को दो घंटे तक परीक्षा हाल में इंतजार करना पड़ा।

भोपाल के ही एक परीक्षा केंद्र ट्रिनिटी कॉलेज में परीक्षार्थियों ने हंगामा कर पीईबी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। परीक्षा केंद्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुबह 9 बजे से शुरू होने वाली पहली पाली के लिए सुबह 7.30 बजे से परीक्षार्थियों को रिपोर्टिंग करनी थी। इस दौरान हाल में प्रवेश के पहले केंद्रों पर परीक्षार्थियों का बायोमेट्रिक मशीन से आधार का वेरीफिकेशन हुआ। इस प्रक्रिया में कई परीक्षार्थी बाहर हो गए। जिनका वेरीफिकेशन सफल रहा उन्हें हाल में प्रवेश दे दिया गया। लेकिन, अंदर दोबारा होने वाले वेरीफिकेशन के दौरान सर्वर जवाब दे गया। इससे परीक्षा देरी से शुरू हो पाई।

अधिकारियों ने कहा नहीं बदला जाएगा नियम
केंद्रों ने जब बोर्ड के अधिकारियों से संपर्क किया तो जवाब मिला की यह नीतिगत फैसला है। आधार वेरीफिकेशन का नियम नहीं बदला जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान सर्वर डाउन की समस्या के कारण परीक्षार्थियों से लेकर परीक्षा केंद्रों में मौजूद पर्यवेक्षकों और स्टाफ को परेशान होना पड़ा। पहली पाली में प्रदेश भर में करीब 25 हजार परीक्षार्थियों को शामिल होना था।

तकनीकी समस्या की वजह से बनी ये स्थितिः मंत्री
शिक्षा मंत्री दीपक जोशी ने कहा कि तकनीकी समस्या की वजह से ऐसी स्थिति बनी है। आने वाले समय में निजी कंपनी की जगह खुद ही परीक्षाएं करवाएंगे। व्यवस्था बनाने के लिए केंद्रों पर मौजूद अधिकारी तेजी के साथ काम कर रहे हैं। परीक्षार्थियों के आक्रोशित होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह स्वाभाविक है, लेकिन सब ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है।